Home ਗੁਰਦਾਸਪੁਰ मामला बेटों द्वारा अपनी मां की सेवा न करने का बिना...

मामला बेटों द्वारा अपनी मां की सेवा न करने का बिना सुनवाई एकतरफा निर्णय लेना महिला आयोग की होगी बड़ी भूल, उनको भी सुना जाना आवश्यक – बलविंदर सिंह ,राजकंवल

162
0
गत दिवस निकटवर्ती गांव नाथपुर में एक वृद्ध महिला जसबीर कौर की  वायरल हुई वीडियो के बाद विभिन्न निहंग जत्थेबंदियों द्वारा वृद्ध महिला के घर में आकर उनके बेटों के साथ समझौता करवाए जाने के बाद अब महिला आयोग की चेयरपर्सन मनीषा गुलाटी के हस्तक्षेप के साथ  यह मामला तूल पकड़ता नजर आ रहा है। उल्लेखनीय है कि गत दिवस वृद्ध महिला जसबीर कौर की एक वीडियो वायरल हुई थी जिसमें उसने अपने बेटों पर उसे खाना न देकर तथा उसका हाल न जानकर प्रताडि़त करने का आरोप लगाया था। जिसका कड़ा संज्ञान लेते हुए  निहंग जत्थेबंदियों द्वारा महिला के गांव नाथपुर में आ  कर उनके बेटों को उसे 2500₹ महीना देने की बात पर समझौता करवाया था जिस पर उसके बेटों  बलविंदर सिंह सेवानिवृत्त अध्यापक तथा राजकंवल सिंह सेवानिवृत्त सूबेदार की भी रजामंदी हो गई थी। लेकिन पिछले दिनों महिला आयोग की चेयरपर्सन मनीषा गुलाटी द्वारा उक्त वृद्ध महिला जसबीर कौर को स्वयं मिलने का वादा किया गया था जिस पर आज महिला आयोग की चेयरपर्सन मनीषा गुलाटी नाथपुर गांव पहुंची।  इस अवसर पर महिला ने अपना दुखड़ा मनीषा गुलाटी को सुनाते हुए कहा कि उसके बेटे उसकी जरा भी सार नहीं लेते हैं तथा वह चाहती है कि जो 4 एकड़ भूमि उसने अपने बेटों के नाम की हुई है वह  भूमि दोबारा उसे वापिस कर दी जाए ताकि वह इसे ठेके पर देकर अपना भरण पोषण कर सके।शाम करीब साढ़े 4 बजे महिला कमीशन की चेयरपर्सन मनीषा गुलाटी नाथपुर जसबीर कौर से मिली इस अवसर पर उन्होंने वृद्ध महिला जसबीर कौर को आश्वासन दिलाया कि 1 सप्ताह के भीतर उसकी भूमि जो उसके बेटों के नाम पर है वह रद्द कर दोबारा उसके नाम पर चढ़ा दी जाएगी जिसके लिए मनीषा गुलाटी द्वारा जिलाधीश गुरदासपुर मुहम्मद इश्फाक से बात कर ली गई है तथा उन्होंने यह भी आश्वासन दिलाया कि भूमि उनके नाम पर होने के बाद वह सरकारी अधिकारियों की ड्यूटी ही लगवा देंगे वहीं उनकी भूमि को ठेके पर देकर बनती राशि उनके खाते में डलवांऐ। उन्होंने कहा कि वह जसबीर कौर के माध्यम से पूरे पंजाब की महिलाओं के लिए ये 1 उदाहरण सेट करना चाहती हैं कि जो पुत्र अपने अभिभावकों की भूमि को रजिस्ट्री करवाने के बाद उनकी सेवा नहीं करती है । रजिस्ट्रेशन उनकी रद्द कर दोबारा उनके माता पिता के नाम पर की जा सकती है। वहीं दूसरी ओर वृद्ध महिला जसबीर कौर के पुत्र राज कंवल सिंह तथा बलविंदर सिंह ने बताया कि महिला आयोग की चेयरपर्सन मनीषा गुलाटी द्वारा एकतरफा निर्णय लेते हुए उनकी कोई सुनवाई नहीं की गई । उन्होंने कहा कि अगर कोई भी महिला किसी दूसरे व्यक्ति के बहकावे में आकर किसी के विरूद्ध रो कर बयान दे दे तो सम्बन्धित व्यक्ति की सुनवाई न कर उसके विरूद्ध निर्णय कर लेना बहुत बड़ी भूल होगी । उन्होंने सरकार एवं प्रशासन से मांग की कि उनकी भी सुनवाई की जानी चाहिए तथा कभी किसी निर्णय पर पहुचना जायज होगा।  उन्होंने बताया कि जब उन्होंने चेयरपर्सन मनीषा गुलाटी से मिलने का प्रयास किया तो पुलिस अधिकारियों द्वारा उन्हें उनसे मिलने से रोक दिया गया तथा बिना उनसे मिले ही चेयरपर्सन वहां से रवाना हो गईं। इस अवसर पर उनके साथ एस एस पी गुरदासपुर रशपाल सिंह, नायब तहसीलदार कादियां  तथा पुलिस के कई आला अधिकारी भी मौजूद थे ।
जब इस सम्बन्ध में जिलाधीश जनाब मोहम्मद इश्फाक से बात की गई तो उन्होंने बताया कि महिला आयोग की चेयरपर्सन मनीषा गुलाटी जी का उन्हें फोन आया था उन्होंने उन्हें बता दिया है कि  सीनियर सिटीजन एक्ट के अनुसार एस डी एम बटाला को महिला की ओर से लिखित में  शिकायत भेजी जाएगी तथा उनकी जांच रिपोर्ट के आधार पर ही बनती कार्रवाई की  जाएगी अभी कोई भी रजिस्ट्रेशन रद्द नहीं हुई है तथा न ही ऐसे आदेश हुए हैं ।
Previous articleਬਾਬਾ ਮੱਲੀ ਸ਼ਾਹ ਦੀ ਦਰਗਾਹ ਤੇ ਸਾਲਾਨਾ ਜੋੜ ਮੇਲਾ ਕਰਵਾਇਆ
Next articleਸੰਗਦਿਲਪ੍ਰੀਤ ਸਿੰਘ ਪੁੱਤਰ ਪੱਤਰਕਾਰ ਰਛਪਾਲ ਸਿੰਘ ਸ਼ੇਰਪੁਰੀ ਤੀਹਸੀਲ ਜਗਰਾਉਂ ਜ਼ਿਲ੍ਹਾ ਲੁਧਿਆਣਾ ਨੂ ਅਦਾਰਾ ਸਲਾਮ ਨਿਊਜ਼ ਵਲੋ ਲੱਖ ਲੱਖ ਵਧਾਈ

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here