कादियां: वरिष्ठ समाजसेवी तथा स्वतंत्रता संग्रामी के मास्टर उत्तमसिंह रामपुर की पत्नी माता सुरजीत कौर की अंतिम रस्म क्रिया के अवसर पर विभिन्न जत्थेबंदियों के नेताओं में राज मोहिंदर सिंह रिटायर्ड एस पी एस डी ओ अजीत सिंह कुलदीप सिंह रियाड़ चन्नन सिंह तुगलवाल हरजीत सिंह कल्पित वस्सन सिंह गोराया इलेक्ट्रिक और गुरबचन सिंह हरबंस सिंह रियाड़ सरपंच उपिंदर सिंह लेक्चरर निर्मल सिंह रामपुर सुखदेव सिंह सरपंच अवतार सिंह हरदयाल सिंह कर्नल जगदीप सिंह जोगिंदर सिंह संधू गुरदीप सिंह प्रोफेसर थे सिंह राज महेंद्र सिंह ने उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए । इस अवसर पर संबोधन करते हुए उक्त वक्ताओं ने कहा कि सुरजीत कौर 1 बहुत ही नेक रूह की मालिक थी तथा उन्होंने अपने पति उत्तम सिंह के स्वतंत्रता संग्राम में अहम भूमिका निभाई यही नहीं उन्होंने बतौर अध्यापिका अनेकों लड़कियों को शिक्षित किया तथा उनकी शादियां भी करवाईं। लगभग 100 वर्ष की आयु में अपने अंतिम सांस तक वह जरुरतमंद तथा गरीबों की हर संभव तरीके से सहायता करते रहे । इस बारे में विस्तार सहित जानकारी देते हुए उनके दामाद प्रिंसिपल सुलक्खन सिंह गोराया ने बताया कि माता जी बहुत ही समझदार समाजसेवी महिला थी आजादी की लड़ाई में उन्होंने अपने पति मास्टर उत्तम सिंह के साथ मिलकर बहुत सारे कार्य किए । उनके पति जब अंडरग्राउंड होते थे तो वह घर संभालने के साथ साथ समाजसेवा के काम भी करते रहे घर में देशभक्तों के आने जाने के कारण वह औरतों के पक्षों प्रति बहुत जागरूक थीं ।पाकिस्तान से बर्बाद होकर आए लोगों को बसाने में माताजी ने अपने पति के साथ मिलकर दिन रात मेहनत की तथा जरूरतमंदों को दोबारा बसाया ।इस अवसर पर नम्बरदार निर्मल सिंह , हरदयाल सिंह ,सरपंच उपिंदर सिंह ,सरपंच तरलोक सिंह ,डायरेक्टर वस्सन सिंह, डा वस्सन सिंह ,जगदीश सिंह सरां, बलकार सिंह, प्रिंसिपल स्वर्ण सिंह विर्क, प्रिंसिपल कमलजीत कौर ,जसपाल सिंह ततला, प्रोफ़ेसर ध्यान सिंह नाथपुर, हरबंस सिंह रियाड़, कुलदीप सिंह रियाड़ ,इंस्पैक्टर बख्तावर सिंह, सचिव गुरदीप सिंह ,प्रिंसिपल कुलदीप सिंह ढिल्लों ,एक्सियन मंगलजीत सिंह ,बलकार सिंह रामपुर तथा अन्य उपस्थित थे ।
कैप्शन
माता सुरजीत कौर को श्रद्धा सुमन अर्पित करने की कुछ झलकियां

Leave a Reply

Your email address will not be published.